क्राइम ब्रांच की स्टार्स-|| की टीम ने चार खूंखार किडनैपर्स लुटेरे अपराधियो को गिरफ्तार किया

 

शहज़ाद अहमद
क्राइम ब्रांच, स्टार्स -ll की टीम ने कुख्यात लुटरों को अवैध हथियारों के साथ क्राइम ब्रांच, स्टार्स -II ने 4 खूंखार किडनैपर्स लुटेरों को गिरफ्तारी किया ।गिरफ्तार अपराधियों के नाम 1,हाशिम उर्फ सोनू,उम्र 25 वर्ष सरस्वती विहार,लोनी,गाजिया बाद,यू.पी. 2 ,सत्यबीर पांडे उर्फ बिहारी,उम्र 36 वर्ष राजीव गार्डन, मंगल बाजार के पास, लोनी -2, गाजियाबाद, 3, सचिन पास वान,उम्र 22 वर्ष रूप नगर, लोनी, गाजियाबाद,यू.पी.4, माजिद सलमानी,उम्र 22 वर्ष सरस्वती विहार,लोनी, गाजियाबाद, यू.पी.। डी सी पी क्राइम ब्रांच,राम जी गोपाल नायक स्टार्स -ll ने बताया कि 20 नवंबर 19 को एसआई अरुण सिंधु को एक गुप्त सूचना मिली कि “हासिम गैंग” के गिरोह के सदस्य एक अन्य लूट को अंजाम देने के लिए दिल्ली के आनंद विहार,आई एस बी टी आएंगे इस गुप्त सूचना पर फौरन कार्रवाई करते हुए। तुरंत, एक छापेमारी टीम ए सी पी अरविंद कुमार, क्राइम ब्रांच, स्टार्स-ll के नृतव व निरीक्षण द्वारा इंस्पेक्टर दिनेश कुमार,की देख रेख में एक टीम का गठन किया गया। इन अपराधियों को पकड़ने के लिये, टीम ने हसनपुर डी टी सी डिपो के पास जाल बिछाया। कुछ घंटों के बाद एक कैब में चार व्यक्ति पहुंचे पुलिस टीम की मौजूदगी को भांपने के बाद चारो व्यक्तियों ने वहां से भागने की कोशिश की लेकिन, पुलिस टीम ने फौरन कार्रवाई करते हुए आरोपियों को धर दबोचा लिया,आरोपी व्यक्तियों की तलाशी के दौरान उनके कब्जे से तीन लोडेड देशी पिस्तौल और आठ जिंदा कारतूस बरामद किए गए। इस संबंध में क्राइम ब्रांच में मामला दर्ज किया गया है। अपराध के इस्तेमाल में चार मोबाइल फोन, पीड़ितों को नशे की दवा देने के टैबलेट, ऐप आधारित कैब भी बरामद किए गए हैं।घटना, 01.नवंबर 19 को लुटेरों द्वारा ISBT,आनंद विहार से सेक्टर,126,नोएडा के लिए लगभग शाम साढ़े सात बजे ऐप आधारित कैब बुक की गई। तीन लुटेरे यात्रियों के रूप में आए और कैब में सवार हो गए। जब नोएडा पहुंचने के बाद, लुटेरों ने ड्राइवर को धरदबोच लिया,और ड्राइवर को पीटा और उसके पैसे और मोबाइल फोन लूट लिए, आरोपियों ने ड्राइवर को उसकी कैब में बांध दिया गया। और उसे गाँव टीला,लोनी और गाजियाबाद में बंधक बना लिया। और ड्राइवर को आरोपियों ने नशे की दवाई दी जिससे वह बेहोश हो गया। लुटेरों ने कैब के असली ड्राइवर के फोन पर कैब एग्रीगेटर कंपनी ओला द्वारा जो बुकिंग भेजी जा रही थी, उसमें अपराधियों ने उसका इस्तेमाल किया। लुटेरों में से एक लुटेरा कैब का ड्राइवर बन गया।करीब 24 घंटे के बाद, बदमाशों ने उन्हें, आई एस बी टी , कश्मीरी गेट के पास छोड़ दिया। इसके बाद, व्यवसायी अपने बेटे के साथ नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंचे और स्थानीय पुलिस से शिकायत की इस संबंध में,पुलिस स्टेशन नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर एक मामला दर्ज किया गया। और जांच की गई थी। स्थानीय पुलिस कैब का ड्राइवर अगली सुबह मेरठ रोड, गाजियाबाद में कैब में बेहोशी की हालत में पड़ा मिला। ड्राइवर की शिकायत पर,पुलिस स्टेशन पटपड़गंज औद्योगिक क्षेत्र, दिल्ली में दर्ज किया गया। लूट के मामले को गम्भीरता से लेते हुए। अपराधियों की गिरफ्तारी के साथ आगे जांच जारी है।

Releated Post