दिल्ली पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव ने महिला हैड कांस्टेबल सीमा ढाका (बाहरी उत्तर जिला) को ‘आउट-ऑफ-टर्न प्रमोशन’ प्रदान किया है

@shahzadahmed

दिल्ली पुलिस के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी पुलिसकर्मी,हेड कॉन्स्टेबल को आउट ऑफ टर्न प्रमोशन देकर एएसआई बना दिया गया है

हम बात कर रहे है हेड कांस्टेबल सीमा ढाका की जिन्हें आउट ऑफ़ टर्न प्रमोशन मिला है

इसकी खास वजह ये है कि सीमा ने महज ढाई महीने में गुमशुदा 76 मासूम बच्चों को ढूंढ निकाला है

हैड कांस्टेबल सीमा ढाका ने 76 लापता बच्चों और उनमें से 56 के बारे में पता लगाया है।14 वर्ष से कम आयु के हैं। वह दिल्ली पुलिस की पहली पुलिसकर्मी हैं, जिन्हें प्रोत्साहन योजना के तहत गुमशुदा बच्चों का पता लगाने के लिए आउट-ऑफ-टर्न प्रमोशन दिया गया है।

सीमा ढाका ने बताया कि कुछ बच्चे तो दिल्ली के बाहर अन्य राज्यों, खासकर पंजाब और पश्चिम बंगाल तक से बरामद हुए। ये बच्चे दिल्ली के अलग-अलग पुलिस थाना क्षेत्रों से लापता हुए थे और उन्हें तलाशने में सीमा ने काफी समय और परिश्रम किया है ।

सीमा ने आगे कहा, मैं काफी खुश हूं कि कमिश्नर साहब ने मुझे आउट ऑफ टर्न प्रमोशन दिया है। मैं कमिश्नर साहब का धन्यवाद करती हूं, जिन्होंने मुझे एएसआई बनाया है।प्रमोशन से ज्यादा खुश इस बात से हुई कि मेरी मेहनत और ईमानदारी से मैने 76 बच्चों को उनके माँ बाप से मिलवाया।

पुलिसकर्मियों को उन बच्चों का पता लगाने या उन्हें बरामद करने के लिए प्रेरित करने के लिए, जो अपने घर से लापता हो गए हैं, पुलिस आयुक्त ने 5 अगस्त, 2020 को एक प्रोत्साहन योजना जारी की थी।इस आदेश ने गुमशुदा बच्चों के पता लगाने या वसूली में एक समुद्री परिवर्तन लाया है और अगस्त ‘2020 से अधिक से अधिक बच्चों का पता लगाया गया है।

Crimeindelhi.com

#delhipolice #seemadhaka #goodwork #delhipolicedilkipolice

Releated Post