देह व्यापार करवाने वालो के चुंगल से भाग निकली आंध्र प्रदेश से लाई गई युवती

पीड़ित युवती 
शहज़ाद अहमद / नई दिल्ली
साड़ी को रस्सी बनाकर फ्लेट की खिड़की से भाग कर बचाई अपनी जान । मोना नाम की लड़की को दो साल पहले एक आशा नाम की महिला दिल्ली में नोकरी के नाम पर उसे दिल्ली ले आई । दिल्ली के बेगमपुर में सरोज नाम की महिला के घर घरेलू काम काज के लिए सौंप दिया । दो साल तक मोना  के सरोज के घर काम किया । मोना को सरोज की हकीकत का पता नही था  दरअसल सरोज जिस्म फरोशी के काले धंधे को करने वाली नायिका है । सरोज ने 6 महीने पहले मोना को दिल्ली के रेड लाइट एरिया जीबी रोड पर राधा नाम की महिला को बेच दिया था । राधा मोना से उसकी इच्छा के खिलाफ इस धंधे में धकेलती थी ।

पुलिस के गिरफ्त में सरोज और उसका पति हरीश अरोड़ा

कुछ दिन पहले सरोज ने मोना को दोबारा बेगमपुर बुलाया और खुद कुछ दिनों के लिए कहीं चली गई । मोना को अकेली पाकर सरोज के पति हरीश अरोड़ा ने उसके साथ जबरन बलात्कार किया । इसके बाद उसने सरोज को बताया सरोज ने उसकी शिकायत पर कोई गौर नही किया ।  मोना को कहीं आने जाने नही दिया जाता था । मोना एक रात देर रात मौका पाकर साड़ी की रस्सी बनाकर खड़की से निकल भागी । उसको वीरेंद्र नाम के व्यक्ति को अपना सारा हाल बताया । इसके बाद मोना की शिकायत कमला मार्किट थाने में दर्ज करवाई गई । कमला मार्किट थाना इंचार्ज सुनील ढाका ने पहले मोना की निशानदेही पर बेगमपुर छापा मार कर वहां से रैप के आरोपी हरीश अरोड़ा और उसकी पत्नी सरोज को भी गिरफ्तार कर लिया गया । पुलिस ने जीबी रोड के 71 नम्बर कोठे पर छापा मारा वहां राधा नाम की महिला पुलिस के हाँथ नही आई । पुलिस को राधा की तलाश है ।

Releated Post