लॉकडाउन में परेशान हाल में है, दिल्ली के सेक्स वर्कर्स

Ravi Tondak / Shahzad Ahmed 

दिल्ली का रेड लाइट एरिया जी बी रोड के सेक्स वर्कर्स इस दुःख की घड़ी में बहुत परेशान है 

इस मुश्किल घड़ी में कई कठनाइयों का सामना कर रही है, सेक्स वर्कर

एक्सक्लूसिव बातचीत में सेक्स वर्कर्स ने बताया कि अब हम सब भूखे मर रहे है जितना राशन था वो खत्म हो गया और अब तो कोई खाना खिलाने भी नही आ रहा है। उनका कहना जब 23 मार्च से लॉकडाउन शुरू हुआ। 2 अप्रैल से 9 अप्रैल तक दिल्ली सरकार ने खाना भेजा लेकिन 10 अप्रैल के बाद खाना आना बंद हो गया कुछ एन जी ओ ने राशन दिया था वो भी खत्म हो गया है।
अब तो ये हालत हो गयी है कि उनके पास न तो कहीं से खाना आ रहा है, ना ही पकाने के लिए सामान और गैस है, हालात बहुत ख़राब होते जा रहे है।सेक्स वर्कर्स का कहना है राज्य सरकार या केंद्र सरकार से हमे कोई मदद नही मिल रही है हमने मीडिया के माध्यम से सरकार तक बात पहुंचाई, लेकिन कोई मदद नही मिली। एक सेक्स वर्कर बदला हुआ नाम रेखा कहती है इस मुश्किल घड़ी में हमारी कोई भी मदद नही कर रहा है, जितनी राशन की मदद अाई थी, उसी से हमनें अब तक खाना बनाया और खाया। कहतीं है अब राशन खत्म हो गया है और गैस भी खत्म हो गया है। पैसे है नही जो हम गैस भरवाए।उनका कहना यह भी है कि कुछ समाज के लोगो ने राशन दे जाते है लेकिन पकाने के लिए न तो स्टोव में मिट्टी का तेल, न स्लेंडर में गैस। कैसे पकाए कैसे खाये यही सबसे बड़ी चुनौती है।इस मुश्किल घड़ी में सरकार को मदद करनी चाहिए। उन्होंने यह कहा हम भी भारत के नागरिक है और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के आदेश का पालन कर रहें है ऐसे में मोदी जी से गुजारिश है कि हमे मदद पहुँचाई जाए। हमारी इस दुःखद घड़ी में हमारा और हमारे बच्चो का साथ दे।

Crimeindelhi.com

Tags #sexworkers #lifeduringlockdown #sexworkerslifeduringlockdown #coronavirus

Releated Post