दिल्ली पुलिस ने लूटपाट मर्डर और अटेम्ट टू मर्डर जैसी संगीन वारदातों को अंजाम देने वाले गिरोह का किया पर्दाफाश

Delhi Stats 2015: CrimeInDelhi

उत्तर पूर्वी दिल्ली की स्पेशल स्टाफ की टीम ने ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो दिल्ली में लूटपाट मर्डर और अटेम्ट टू मर्डर जैसी संगीन वारदातों को अंजाम दिया करते थे पुलिस ने इनके पास से 5 पिस्टल 12 जिन्दा कारतूस और एक लाख 60 हजार रुपये ब 3 मोटरसाइकल बरामद किये है|

आप साफ तौर पर देख सकते है दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में खड़े ये 5 आरोपी दिल्ली में लूटपाट हत्या और हत्या की कोसिस जैसी संगीन वारदातों को अंजाम दिया करते थे हाल ही में उस्मान पुर इलाके में 16 जुलाई को हुई एक मल्टीनेशन कम्पनी के डिस्टिब्यूटर से इन बदमाशो ने हथियार के बल पर 11 लाख रुपये की लूट की वारदात को अंजाम दिया था|

तभी से दिल्ली पुलिस इन आरोपियो की तलाश कर रही थी इस गिरोह का  मास्टर माइंड मोटा आबिद है जो दिल्ली के मुस्तफाबाद का रहने वाला है यह आरोपी इतना शातिर है कि अपने साथ मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल नही किया करता था और अपने  साथियों के साथ नेट के जरिये संपर्क किया करता था जिससे कि पुलिस इन्हें ट्रेस न कर पाए मोटा आबिद अपने साथियों के साथ मिलकर दिल्ली के कारोबारियो के साथ लूटपाट की वारदातों  को अंजाम दिया करता था|

हाल ही में मोटा आबिद ने एक मल्टीनेशनल  कंपनी के  डिस्ट्रीब्यूटर  से  हथियार के बल पर  11,00,000/- रुपए की लूट की वारदात को अंजाम दिया था  मोटा आबिद के उप्पर हत्या और हत्या की कोसिस लूटपाट के दर्जनों भर मुकदमे दर्ज है मोटा आबिद 2016 में तिहाड़ जेल से छुटकर बहार आया था जेल से बहार आने के बाद से ये आरोपी अपने साथियों के  साथ मिलकर दिल्ली NCR में लूटपाट हत्या और हत्या की कोसिस जैसी संगीन  वारदातों को अंजाम दे रहा  था पुलिस की माने तो दिल्ली पुलिस को मोटे आबिद की काफी सालों से तलाश थी  और पुलिस मोटे अमित के गिरफ्तारी के चक्कर में  दिल्ली और दिल्ली से सटे इलाकों में छापेमारी कर रही थी|

लेकिन पुलिस मोटे आबिद के गिरफ्तारी के चक्कर में दिल्ली दिल्ली से सटे इलाकों में छापेमारी कर रही थी लेकिन 29 तारीख को स्पेशल स्टाफ के एसीपी गजेंद्र कुमार और इस्पेक्टर  विनय यादव को गुप्त सूचना  मिली की 16 जुलाई को उस्मानपुर इलाके में हुई एक मल्टीनेशनल कंपनी के डिस्ट्रीब्यूटर के साथ 11 लाख रुपये की लूट में शामिल कुछ बदमाश दिल्ली के सोनिया विहार इलाके में आने वाले हैं स्पेशल स्टाफ के एसीपी गजेंद्र कुमार ने एटीएस स्टाफ और स्पेशल स्टाफ की टीम में तैनात हेड कांस्टेबल जयवीर कॉन्स्टेबल ब्रह्मपाल कांस्टेबल धर्मेंद्र कॉन्स्टेबल सतीश राणा  ASI जय वीर और लोकेश को शामिल किया गया इस टीम को लूटपाट करने वाले गिरोह को पकड़ने का जिम्मा सौंपा गया पूरी टीम ने सोनिया विहार इलाके में जाल बिछाया और मौके से लूटपाट करने वाले गिरोह के सरगना मोटे आबिद के साथ चार और बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि वह दिल्ली एनसीआर के अंदर दर्जनों भर लूटपाट हत्या और हत्या की कोशिश जैसे  संगीन वारदातों को अंजाम दे चुके हैं पुलिस ने इनके पास से 5 पिस्टल 12 जिंदा कारतूस और एक लाख 60 हजार रुपये बरामद किए हैं  पुलिस की माने तो इनकी गिरफ्तारी से दिल्ली में बढ़ रही लूटपाट जैसे वारदातों में कमी आएगी|

Releated Post